अम्बेडकरनगर। कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए सरकार भले ही प्रयास कर रही है, लेकिन लोगों के ऊपर इसका शायद ही कोई असर पड़ रहा है। खासकर यात्री वाहन में तो कोरोना की गाइडलाइन पूरी तरह से बेहतर साबित हो रही है। ड्राइवर और कंडक्टर से लेकर पूरी बस बिना मास्क के ही यात्रा करती मिल रही है। अब ऐसे में समझा जा सकता है कि कोरोना का संक्रमण हुआ तो कितनी तेजी के साथ फैलेगा।
शुक्रवार को अकबरपुर जिला मुख्यालय से होकर जाने वाली विभिन्न डिपो की बसों में बैठे यात्रियों की पड़ताल की तो पता चला कि कोई भी यात्री कोरोना की गाइडलाइन का पालन करता नहीं दिख रहा है। ना तो सोशल डिस्टेंसिंग और ना ही मास्क का ही प्रयोग किया जा रहा है। और तो और बस के चालक और परिचालक भी मास्क नहीं लगा रहे हैं। जबकि उन्हें सरकार की तरफ से निर्देश दिया गया है कि वे यात्रियों को बैठ आते समय मास्क अवश्य चेक करेंगे। साथ ही उनके हाथों को सेनेटाइज करने और मास्क अवश्य लगाने की हिदायत के साथ ही बसों में बैठ आएंगे। इसके बाद भी चालक और परिचालक ही सरकारी आदेशों का पालन कराने में नाकाम दिख रहे हैं। सुबह के समय लगभग 10 बजे दोहरीघाट डिपो की बस जब अकबरपुर पहुंची तो देखा गया कोई भी यात्री मास्क नहीं लगाया था। सभी बिना मास्क के ही लंबी दूरी की यात्रा कर रहे थे। यहां तक कि कंडक्टर और चालक भी बिना मास्क के ही बस में मौजूद थे। इस समय वायरल और डेंगू का कहर भी है। ऐसे में यदि मास्क लगाया जाता है तो वायरल बुखार से बचा जा सकता है। क्योंकि यह भी एक दूसरे से संपर्क के कारण ही होता है। इसके अलावा अन्य डिपो की बसों में भी यही स्थिति नजर आई। लोग बेफिक्र होकर बिना मास्क के ही यात्रा करते दिखाई दिए। सरकार की तरफ से कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन लोग हैं कि बेपरवाही की हद पार कर रहे हैं। लोग खुद ही अपनी जान के दुश्मन बन कर पूरा जोखिम उठाकर बसों में यात्रा कर रहे हैं।परिवहन निगम की बसों की हालत यह है कि उसमें प्राथमिक उपचार के लिए कोई दवा तक नहीं है। आधा दर्जन से अधिक बसों की पड़ताल के दौरान अधिकांश के फर्स्ट एड बॉक्स ही टूटे पाए गए। जबकि परिवहन विभाग का कहना है कि सभी बसों में फर्स्ट एड बॉक्स की व्यवस्था की गई है। जिससे जरूरत पड़ने पर तत्काल उपचार किया जा सके। बावजूद इसके हकीकत कुछ और है। ऐसा नहीं है कि अधिकारी इस हकीकत से वाकिफ नहीं है बस वे जान कर भी अंजान बने हुए हैं।

Post a Comment

If you have any doubts, please let me know

और नया पुराने