NCR News:नोएडा। मंगलवार दोपहर एमिटी विश्वविद्यालय के गेट संख्या-1 पर हुई वारदात की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि सिपाही पर वार करने वालों में एक की पहचान प्रिंस के रूप में हुई है। प्रिंस वहीं पर दुकान चलाता है ओर फिलहाल फरार है।अपर पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने बताया कि मंगलवार दोपहर को नोएडा प्राधिकरण की टीम एमिटी विश्वविद्यालय के पास अतिक्रमण हटाने गई थी। इस दौरान वहां फूड वैन और रेहड़ी पटरी लगाने वाले लोगों ने प्राधिकरण की टीम का विरोध किया। विवाद बढ़ने पर इसकी सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद वहां आसपास तैनाती पीसीआर पहुंची तो उग्र लोगों ने पुलिसकर्मियों पर भी हमला कर दिया।एमिटी विश्वविद्यालय के गेट नंबर-1 के सामने पीसीआर पर तैनात सिपाही अनवर अब्बास को दुकानदारों ने सिर पर चाकू से वार कर दिया। गंभीर अवस्था में उनको जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल भेजकर स्थिति पर काबू पा लिया गया। वारदात में शामिल आरोपी मौके से फरार हो गए। एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि इस मामले में कोतवाली सेक्टर-39 में रिपोर्ट दर्ज की गई है। सिपाही पर हमला करने वाले एक आरोपी की पहचान हो गई है जबकि की पहचान की जा रही है। वारदात में शामिल आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।