NCR News: भारतीय स्टेट बैंक ने यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड (वाईआईएपीएल) को 3725 करोड़ रुपये का कर्ज दे दिया है। अब कोरोना संकट खत्म होते ही इसकी नींव रखी जाएगी और निर्माण शुरू हो जाएगा।एयरपोर्ट के निर्माण का जिम्मा ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को मिला है। कंपनी ने इसे बनाने के लिए स्पेशल परपज व्हीकल कंपनी वाईआईएपीएल बना दी। इसके नाम पर भारतीय स्टेट बैंक में कर्ज के लिए आवेदन किया गया था। बैंक ने कर्ज मंजूर कर लिया है। निर्माण के लिए पैसों का इंतजाम हो गया है। पहले चरण के अंतर्गत एक रनवे से शुरुआत करने के लिए 5200 करोड़ रुपये खर्च होने हैं, जिसमें 3725 करोड़ रुपये का कर्ज मिल गया है। वाईआईएपीएल के सीईओ क्रिस्टोफ श्नेलमैन ने कहा है कि 3725 करोड़ रुपये का ऋण एसबीआई ने डोर-टू-डोर 20 साल की अवधि के लिए दिया है। हम विश्वस्तरीय एयरपोर्ट के विकास के लिए बैंक के साथ मिलकर काम करेंगे। डोर-टू-डोर ऋण अवधि अंतर्गत मूल राशि ब्याज सहित 20 साल के अंदर लौटानी होगी। वाईआईएपीएल को अब उत्तर प्रदेश की पुनर्वास और पुनर्स्थापना प्रक्रिया के पूरे होने और एयरपोर्ट की नींव रखने जाने का इंतजार है। इस एयरपोर्ट से भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।