जलालपुर अंबेडकर नगर। जलालपुर तहसील अंतर्गत जलालपुर नगर के प्रसिद्ध श्री शीतला माता मठिया मंदिर परिसर में बदहाल सफाई व्यवस्था के चलते जहां कूरे के ढेर इधर-उधर लगे हुए आसानी से देखे जा सकते हैं वही कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा शराब पीकर खाली बोतलों को मंदिर प्रांगण में फेंक कर अपवित्र किया जा रहा है। सफाई की बदहाल व्यवस्था के चलते मंदिर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मंदिर परिसर में पड़ी गंदगी की शिकायत करते हुए श्रद्धालुओं ने नाम न छापने की शर्त पर परिसर स्थित नल के पास गंदगी के बीच आये दिन शराब की खाली पन्नी इधर-उधर फेंकी मिलने की बात बताई।
मंदिर का निरीक्षण करने और दर्शन के लिए आए बजरंग दल के पदाधिकारी बृजेश सिंह ने मंदिर की बदहाली को लेकर रोष जताया उन्होंने कहा कि जिम्मेदारों को सफाई व्यवस्था की कमियों को दूर करने के लिए कई बार कहा गया लेकिन इनके ऊपर जैसे कोई असर ही नहीं पड़ता बातों को अनसुनी कर देते हैं। उन्होंने मंदिर कमेटी को सहयोग करने की बात के साथ यह भी कहा कि जहां शासन प्रशासन की मदद की जरूरत है बजरंग दल विशेष मंदिर कमेटी के साथ खड़ा रहेगा लेकिन शुरुआत कमेटी को करनी चाहिए।
दर्शन करने आई महिला सुनीता ने बताया कि अगर सही से मंदिर परिसर का निरीक्षण किया जाए तो आपको कहीं ना कहीं इधर उधर फेंके हुएआ शराब के खाली रैपर जरूर दिख जाएंगे ।मंदिर पर न तो कोई साफ सफाई की व्यवस्था है न ही यहां पर कोई जिम्मेदार है।वही जिन लोगों को जिम्मेदारी दी गई है वह अपनी जिम्मेदारी का ढंग से निर्वाहन नहीं कर रहे हैं।
अन्य स्थानीय श्रद्धालुओ ने बताया कि कभी-कभी जब लोगो द्वारा जिम्मेदारो से सवाल जवाब किया जाता है तो मंदिर परिसर में बरात रुकने की वजह से कचरा एवं शराब की खाली डब्बा होने की दावा करते हैं । लेकिन मौके पर बीती 15 मई के बाद से मंदिर परिसर में कोई भी बरात नहीं रुकी है। ऐसे में अगर गंदगी के जिम्मेदार बरात या अन्य छोटे-छोटे कार्यक्रम आयोजित कराने वाले लोग हैं तो जिम्मेदार लोगों द्वारा सफाई क्यों नहीं करवाई गई,प्रश्न यह भी बनता है क्या मंदिर परिसर की रोज सफाई नहीं होती है । अगर सफाई होती है तो इस सब का जिम्मेदार कौन है?

Post a Comment

If you have any doubts, please let me know

और नया पुराने