औरैया // सदर तहसील क्षेत्र के जैतापुर गोशाला में शुक्रवार सुबह जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया गोशाला में अनेकों कमियां व अव्यवस्थाएं देख जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई जिलाधिकारी ने गोशाला संचालक को पीपल, पाकड़, बरगद जैसे छायादार वृक्ष लगाने के दिए निर्देश दिए, ताकि गर्मी में गोवंश को परेशानी न हो सकें जिलाधिकारी पी सी श्रीवास्तव ने जैतापुर गोशाला पहुंचे परिसर में गंदगी और गोबर के ढेर देख नाराजगी जताई इसके बाद मवेशियों की हालत, उनके इलाज, साफ-सफाई, भूसा, हरा चारा, दाना समेत अन्य अभिलेखों को देखा फिर सेवादारों से बातचीत की जिलाधिकारी ने मुख्य गेट के ऊपर कोई भी बोर्ड न लगा होने पर नाराजगी जताई उन्हें गोशाला की शिलान्यास पट्टिका टूटी मिली जिलाधिकारी ने गोबर गैस प्लांट किस एजेंसी के द्वारा बनाया गया है, इसकी जानकारी ली तो वहां मौजूद लोग सही जानकारी नहीं दे सके गोशाला में संचालित NGO कृषक संजीवनी के संचालक राधाकांत ने बताया कि गोशाला में कुल 208 नर, 256 मादा मवेशी है 25 मवेशी गांव वालों को सुपुर्दगी में दिए गए हैं और दो छोटे बछड़ों की मृत्यु हो चुकी है 10 सेवकों की निगरानी में गोशाला संचालित की जा रही है, जिनमें आठ सेवक दिन व दो सेवक रात में रहते हैं जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि गोशाला के पास जो जगह खाली पड़ी है, उसमें फेंसिंग करा कर चारागाह के लिए प्रयोग किया जाए साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि मुख्य पशु चिकित्साधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी के साथ गोबर का उचित मूल्य तय कर लें इस दौरान मुख्य पशु चिकित्साधिकारी भी मौजूद रहे।

Post a Comment

If you have any doubts, please let me know

और नया पुराने